छात्राओं को मिलेगी छात्रवृत्ति की राशि पढ़ाई करने वाली बेटियों को मिलेगी छात्रवृत्ति, राज किसान पोर्टल ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा

छात्राओं को मिलेगी छात्रवृत्ति की राशि: जिले की सैकड़ों छात्राएं जल्द ही छात्रवृत्ति योजना का लाभ ले सकेंगी | सरकार ने अन्य पिछड़ा वर्ग व अजा वर्ग की बालिकाओं की पूर्व मैट्रिक व उतर मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के तहत राशि आवंटित की है | जल्द ही यह राशि बालिकाओं के खतों में जमा हो जाएगी | सरकार आदेश के अनुसार अन्य पिछड़ा वर्ग की छठी से दसवीं में अध्ययनरत बालिकाओं को पूर्व मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के तहत छात्रवृत्ति मिलेगी | जिले की आठ हजार बालिकाओं के लिए अस्सी लाख रुपए जमा हुए है

छात्राओं को मिलेगी छात्रवृत्ति की राशि

जिले की सैकड़ों बालिकाएं होंगी लाभान्वित: वहीं उतर मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के तहत ग्यारहवीं-बारहवीं की 103 छात्राओं के लिए 1 लाख 64 हजार 800 रुपए जमा हुए है | वहीं, अनुसूची जाती वर्ग की छात्राओं को पूर्व मैट्रिक योजना के तहत 164,5 लाख रुपए आवंटित हुए है तो उतर मैट्रिक योजना के तहत 600 छात्राओं के लिए 1 लाख 38 हजार रुपए की राशि जारी की गई है | अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक शिक्षा बाड़मेर जेतमालसिंह राठोड़ ने बताया कि राशि आवंटन के बाद इसका भुगतान बालिकाओं के बैंक खातों में होगा |

छात्राओं को मिलेगी छात्रवृत्ति की राशि

जिले की सैकड़ों बालिकाएं होंगी लाभान्वित

छात्राओं को मिलेगी छात्रवृत्ति की राशी: छात्राओं को अपनी अंकतालिका तथा राजस्थान के मूल निवासी होने का प्रमाण-पत्र अपलोड करना होगा। छात्रा जिस कक्षा में अध्ययन कर रही है उसके लिए संस्था की ओर से प्रमाण-पत्र दिया जाना है। इसके लिए राज किसान पोर्टल पर कृषि संकाय वाले राजकीय एवं मान्यता प्राप्त विद्यालय व महाविद्यालय को अपना पंजीकरण करवाना होगा। बता दें कि विभाग ने पहली बार ऑनलाइन आवेदन मांगे जबकि हर वर्ष ऑफलाइन आवेदन ही लिए जाते हैं।

छात्राओं को हर वर्ष पांच हजार की मिलेगी प्रोत्साहन राशि

राज किसान पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण करने के बाद स्कूल व महाविद्यालय को छात्रा के फार्म का भौतिक सत्यापन करना होगा। इसके बाद इस फार्म को उप-निदेशक कृषि को भेजा जाएगा। इस बीच संस्था प्रधान को एक प्रमाण पत्र देना होगा कि यह छात्रा किस कक्षा में अध्ययनरत है तथा छात्रा की ओर से इसी कक्षा में पुन: प्रवेश नहीं लिया गया है। साथ ही छात्रा अनुत्तीर्ण भी नहीं हुई है। इस आशय का प्रमाण पत्र संस्था की ओर से ऑनलाइन जारी करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.